Har Pal Dhyaan Mein Basne Wale Log, Amjad Islam Amjad

Posted by

Har pal dhyan mein basne wale log afsane ho jaate hain

Ankhein budhi ho jati hain khwaab purane ho jate hain

Sari baat talluq wali jazbon ki sacchai tak hai

Mail dilon me aa jaye to ghar veerane ho jaate hain

Har ek chiz badal jaati hai ishq ka mausam aate hi

Raatein pagal kar deti hain din deewane ho jate hain

Duniya ke is shor ne ‘Amjad’ kya kya hamse chheen liya hai

Khud se baat kiye bhi ab to kai zamane ho jaate hain

हर पल ध्यान में बसने वाले लोग अफ़साने हो जाते हैं

आँखें बूढ़ी हो जाती हैं ख़्वाब पुराने हो जाते हैं

सारी बात ताल्लुक़ वाली जज़्बों की सच्चाई तक है

मैल दिलों में आ जाए तो घर वीराने हो जाते हैं

हर एक चीज़ बदल जाती है इश्क़ का मौसम आते ही

रातें पागल कर देती हैं दिल दीवाने हो जाते हैं

दुनिया के इस शोर ने ‘अमजद’ क्या क्या हमसे छीन लिया है

खुद से बात किए भी अब तो कई ज़माने हो जाते हैं

Leave a Reply