US KI UMMID-E-NAAZ KA HAM SE , JAUN ELIA

Posted by

Us ki ummid-e-naaz ka ham se ye maang tha ki aap zindagi guzar dijiye

Zindagi guzar di gayi

Ek hi hadsa to hai aur wo ye ki aaj tak

Baat nahin kahi gayi, Baat nahin suni gayi

Jaun Elia

उस की उम्मीद-ए-नाज़ का हम से ये माँग था कि आप ज़िंदगी गुज़ार दीजिए

ज़िंदगी गुज़ार दी गयी

एक ही हादसा तो है और वो ये की आज तक

ना बात कही गयी, ना बात सुनी गयी

जौन एलिया

Leave a Reply