Meri Khaak se ghar chamkaya mere lahu se maang bhari

Posted by

Meri khaak se ghar chamkaaya mere lahu se maang bhari

Ishq mein meri jaan gayi par aapke kitne kaam hue,

Tere khali aanchal ko hiron ki jarurat thi warna

Kisko tamanna thi bikne ki tere liye neelam hue

मेरी ख़ाक से घर चमकाया मेरे लहू से माँग भरी

इश्क़ में मेरी जान गयी पर आपके कितने काम हुए,

तेरी ख़ाली आँचल को हीरों की ज़रूरत थी वरना

किसको तमन्ना थी बिकने की तेरे लिए नीलाम हुए

Leave a Reply