LAHJA KI JAISE SUBH KI KHUSBU

Posted by

Lahja aisa ki jaise subh ki khushbu azan de

Ji chahta hai main teri aawaz chum lun

Bashir Badr

लहजा ऐसा की जैसे सुभ की ख़ुशबू अजान दे

जी चाहता है मैं तेरी आवाज़ चूम लूँ

बशीर बद्र

Leave a Reply