APNE CHEHRE SE TO ZAHIR HAI

Posted by

“Apne chehre se to zahir hai chupayein kaise,

Teri marzi ke mutabiq nazar aayein kaise”

Waseem Barelvi

“अपने चेहरे से तो ज़ाहिर है छुपाएँ कैसे,

तेरी मर्ज़ी के मुताबिक़ नज़र आएँ कैसे”

वसीम बरेलवी

Leave a Reply