SITARON KE AAGE JAHAN AUR BHI

Posted by

“Sitaron ke aage jahaan aur bhi hain,

Abhi ishq ke imtihan aur bhi hain”

-Allama Iqbal

“सितारों के आगे जहाँ और भी हैं,

अभी इश्क़ के इम्तिहाँ और भी है”

-अल्लामा इक़बाल

Leave a Reply