DIL BHI PAGAL HAI KI US SHAKHS

Posted by

“Dil bhi paagal hai ki us shakhs se wabasta hai,

Jo kisi aur ka hone de na apna rakkhe”

(Wabasta- Attached)

-Ahmad Faraz

“दिल भी पागल है कि उस शख़्स से वाबस्ता है,

जो किसी और का होने दे ना अपना रक्खे”

अहमद फ़राज़

Leave a Reply